Sugercane Price 2024 : गन्ना मूल्य में फिर से बदलाब, जल्द देखे कितने रुपया क्विंटल होगा गन्ना : जल्द देखे नया रेट क्या है

Sugercane Price 2024 प्रदेश में किसानों की संख्या सबसे ज्यादा, लेकिन गन्ने का दाम सबसे कम

Sugercane Price 2024 : गन्ना मूल्य की घोषणा पूरे देश में सबसे ज्यादा गन्ना किसान यूपी में हैं और बड़ी संख्या में लोग गन्ना उद्योग से जुड़े हैं। ऐसे में यूपी में गन्ना किसानों की सबसे ज्यादा संख्या होने के बावजूद यहां के किसानों को अभी भी अन्य राज्यों की तुलना में गन्ने की सबसे कम कीमत मिल रही है. इसे लेकर किसान संगठनों ने नाराजगी जताई और सरकार से गन्ने का दाम बढ़ाने की मांग की, जिस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंजूरी दे दी है. इसके बाद से राज्य सरकार ने गन्ना किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए गन्ना मूल्य बढ़ाने के प्रयास शुरू कर दिये हैं. इस दिशा में काम जारी है

गन्ना मूल्य की घोषणा

अगर सब कुछ ठीक रहा तो राज्य सरकार दुर्गा पूजा या दिवाली से पहले गन्ने की कीमत में बढ़ोतरी की घोषणा कर सकती है

गन्ने की कीमत कितनी बढ़ने की उम्मीद?

साल 2021 में सरकार द्वारा गन्ने के MSP में ₹5 की बढ़ोतरी करके गन्ने का मूल्य ₹290 प्रति क्विंटल कर दिया गया था। इसके बाद पिछले साल यानी 2022 में ₹15 की वृद्धि कर ₹305 कर दिया गया था।

गन्ना मूल्य की घोषणा
गन्ना मूल्य की घोषणा

इस दौरान प्रतिनिधिमंडल ने सीएम को 11 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा है, जिसमें गन्ने का दाम बढ़ाने की मांग की गई है, जिस पर सीएम योगी ने गन्ने का दाम बढ़ाने पर सहमति जताई है. अनुमान है कि गन्ने का समर्थन मूल्य 30 रुपये से बढ़ाकर 35 रुपये किया जा सकता है. आपको बता दें कि फिलहाल यूपी में गन्ने का समर्थन मूल्य, जिसे एसएपी कहा जाता है, 350 रुपये प्रति क्विंटल है. अगर इसमें 30 या 35 रुपये की बढ़ोतरी हुई तो यहां गन्ने की कीमत 380-385 रुपये प्रति क्विंटल तक जा सकती है

किसानों ने जताई खुशी

केंद्र सरकार ने 10 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी कर किसानों का दर्द समझा है। कभी-कभी पशुपालक खेतों में आ जाते थे और मुफ्त में गन्ना ले जाते थे। लेकिन अब उन्हें मजदूरी देनी होगी. –अमरजीत राय पिडुथ सिंहपुर

किसानों की गन्ने के समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी की उम्मीद कई वर्षों के बाद पूरी हुई है. यह निर्णय सराहनीय है लेकिन गन्ना उत्पादन की ऊंची लागत और गन्ना छीलने वालों की मजदूरी के कारण अपर्याप्त है। -रविन्द्र यादव हांसपुर

यदि केंद्र सरकार गेहूं, धान और अन्य कृषि उत्पादों की तर्ज पर हर साल गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ा दे तो चीनी मिलों के दिन अच्छे हो जाएंगे। किसान गन्ने की खेती की ओर आकर्षित होंगे। – रंगनाथ राय पिडुथ सिंहपुर

केंद्र सरकार की इस घोषणा से गन्ना किसानों की परेशानियां कुछ हद तक कम हो जाएंगी. केंद्र सरकार पहले ही घोषणा कर चुकी है. अब देखना यह है कि राज्य सरकार गन्ने की क्या कीमत तय करती है. -शशि प्रकाश राय पिड़उथ सिंहपुर

केंद्र सरकार ने गन्ने का समर्थन मूल्य 10 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाकर राज्य सरकार को भी दाम बढ़ाने का संकेत दे दिया है. यदि राज्य सरकार 20 रुपये प्रति क्विंटल मूल्य बढ़ाती है, तो राज्य में किसानों के लिए गन्ने का मूल्य 380 रुपये होगा। – संदीप यादव कबीरपुर